आई सी टी प्रशिक्षण सेवायें

ICT Services

राष्‍ट्रीय सूचना-विज्ञान केन्‍द्र में क्षमता विनिर्माण व मानव संसाधन विकास प्रशिक्षण परिदृश्‍य

राष्‍ट्रीय सूचना-विज्ञान केन्‍द्र एतद्द्वारा केन्‍द्र सरकार तथा राज्‍य सरकार दोनों स्‍तर पर कार्यक्रम प्रमुख आई सी टी क्षेत्रों में प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित कर रहा है । तदनुसार रासूवि केन्‍द्र के मुख्‍यालयों (रा.सू.वि. केन्‍द्र मुख्‍यालयों) तथा रा.सू.वि. केन्‍द्र के राज्‍य केन्‍द्रों में प्रशिक्षण सुविधाऍं प्रतिष्‍ठापित की गयी हैं । जिला केन्‍द्र भी आगामी परियोजनाओं के भाग के रुप में प्रशिक्षण भी प्रदान कर रहे हैं । विभिन्‍न आवश्‍यकताओं की पूर्ति हेतु कई वर्षों से प्रशिक्षण अवसंरचना विकसित की जा रही है ।

परम्‍परागत प्रशिक्षण :

परम्‍परागत प्रशिक्षण मोड में, सीमित संख्‍या में प्रतिभागियों को क्‍लास रुम मोड प्रशिक्षण दिया जाता है जहॉं प्रतिभागी तथा संकाय प्रत्‍यक्ष रुप से क्‍लास-रुम में इक्‍ठ्ठे होते हैं । इस साधन से संकाय/प्रतिभागी कक्षा में एकत्रित होते है तथा इसमें सीमित संख्‍या में प्रतिभागियों को प्रशिक्षित किया जाता है । यह प्रशिक्षण देने का सबसे उत्‍तम साधन है क्‍योंकि यह विद्यार्थियों को बहुत ही सहज तरीके से उनके साथ विचार-विमर्श करने का अवसर प्रदान करता है । तथापि यह काफी मंहगा प्रशिक्षण है क्‍योंकि इसमें प्रति विद्यार्थी का यात्रा खर्चा तथा संकाय का शुल्‍क खर्च उसमें शामिल होता है ।

वेब अधिगम आंतरिकवार (इंटर वाइज) प्रौद्योगिकी : परम्‍परागत परिदृश्‍य की सीमाओं पर इंटर वाइज प्रौद्योगिकी द्वारा नियंत्रण रखा गया जहॉं भौगोलिक रुप से फैले हुए प्रतिभागी तथा संकाय व्‍यक्‍तिगत डेस्‍कटापस पर वेब के माध्‍यम से एक साथ एकत्रित हुए । इस कार्यप्रणाली की भी अपनी सीमाऍं है क्‍योंकि संकाय के अनुसार यह एक प्रकार की कृत्रिम कक्षा है जो स्‍वभावतया नीरस बना देती है क्‍योंकि इसमें उसके सामने कोई विद्यार्थी नहीं होता । सभी अपने डेस्‍क पर होते है इसके संबंध में विद्यार्थी के नामों/छात्रों के प्रतिनिधियों की सूची होती है । दूरस्‍थ प्रतिभागियों के साथ बातचीत प्रतिभागियों की उनके माइक्रोफोन की प्रतिष्‍ठापना के विकल्‍प पर निर्भर करती है ।

आभासी क्‍लास रुम (वीडियो कांफ्रेंसिंग तथा आंतरिक वार (इंटर वाइज) प्रौद्योगिकी: वेब अधिगम की कमी पर नियंत्रण रखने तथा परंपरागत साधन को प्रभावी बनाने हेतु वीडियो कांफ्रेंसिंग प्रौद्योगिकी का इस्‍तेमाल किया गया, जिससे भौगोलिक रुप से फैले हुए सभी विद्यार्थियों के लिए एक बड़ी वर्चुअल कक्षा निर्मित की जा सके ताकि बिना किसी अवरोध के दृश्‍य श्रव्‍य साधनों की भागेदारी करते हुए विद्यार्थी संकाय के साथ ठीक समय पर परस्‍पर कार्य कर सकें । यह प्रौद्योगिकी (डेस्‍कटाप भागेदारी हेतु) इंटरवाइज प्रौद्योगिकी के अनुरुप है जो विभिन्‍न क्षेत्रों में बृहत संख्‍या में प्रशिक्षण लेने के इच्‍छुक व्‍यक्‍तियों की देखभाल कर सकती है ।

वर्तमान परिदृश्‍य: उपर्युक्त को ध्‍यान में रखते हुए वर्चुअल क्‍लास रुम मोड में विभिन्‍न प्रशिक्षण कार्यक्रम सफलतापूर्ण आयोजित किये गये । वर्ष 2008-09 में देश भर में रा.सू.वि. केन्‍द्र में लगभग 82 कार्यक्रम आयोजित किये गये जिसमें 1614 प्रतिभागियों ने भाग लिया । यह संकाय संस्‍थागत/निकसी के पैनल में शामिल एजेंसी से लिया गया था ।

भावी दृष्‍टिकोण: : वी सी आर की प्रतिष्‍ठापना से प्रशिक्षण अवसंरचना नई ऊचाइयों पर पहुँच गयी ।

बृहत संख्‍या में प्रतिभागी इस सुविधा का इस्‍तेमाल कर सकते हैं प्रतिष्‍ठित संस्‍थान/संगठन जैसे आई आई टी, आई आई एम, सिफी आदि को भी रा सू वि केन्‍द्र के संस्‍थागत प्रशिक्षण के लिए संकाय के रुप में उनके ज्ञान/अनुभव की भागेदारी करने हेतु परिदृश्‍य में लाया जा सकता है क्‍योंकि इससे वे आंतरिक व्‍यवस्‍था के अनुरुप वर्चुअल क्‍लास-रुम की प्रतिष्‍ठापना से अत्‍यधिक ज्ञान प्राप्‍त कर लाभान्‍वित होगें ।

मुख्‍य रुप से वक्ता प्रतिभागियों को दो श्रेणियों में बॉंटा जा सकता है ।

रा.सू.वि.केन्‍द्र मुख्‍यालय/राज्‍य/जिला केन्‍द्रों में स्‍थित रा सू वि केन्‍द्र के अधिकारी
विभिन्‍न केन्‍द्रीय/राज्‍य/जिला सरकार के मंत्रालयों/ विभागों में प्रयोक्‍ता
रा सू वि केन्‍द्र मुख्‍यालय/रासूवि केन्‍द्र के राज्‍य रासूवि केन्‍द्र के जिला केन्‍द्रों में परियोजनाओं में प्रशिक्षक/प्रशिक्षण/तैनाती/विकास हेतु शुरु की गयी पट्टे पर ली गयी जनशक्‍ति
सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों के कर्मचारी (इग्‍नू/डी ओ ई ए सी सी) के विद्यार्थी
प्रशिक्षण को भी निम्‍नलिखित श्रेणियों में विभाजित किया जा सकता है :

ई-शासन की शुरुआत जैसे सरकारी अधिकारियों हेतु ई-शासन कार्यशालाऍं
क्षमता विकास कार्यक्रम जैसे कंप्‍यूटर बोध कार्यक्रम, सूचना प्रबंधन आदि हेतु आई सी टी उपस्‍कर
क्षेत्रीय विकास कार्यक्रम
रा.सू.वि. केन्‍द्र के व्‍यावसायिकों हेतु प्रौद्योगिकी प्रबंधन कार्यक्रम
अनुप्रयोग प्रचालन हेतु प्रशिक्षण, जिसे केन्‍द्र/राज्‍य/ जिला के सरकारी विभागों में कार्यान्‍वित किया जाता है
सरकारी विभागों द्वारा उनके कर्मचारियों को प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है ।
• शैक्षणिक संस्‍थान जैसे इग्‍नू/डी ओ ई ए सी सी अथवा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम भी अपने विद्यार्थियों कर्मचारियों को भी प्रशिक्षण प्रदान कर सकते है ।
वेब कनेक्‍ट- एकीकृत ई (अधिगम समाधान सोल्‍यूशन)

ई- लर्निंग समान्‍यतया संचार व सूचना प्रौद्योगिकी नेटवर्क के अंतर्राष्‍ट्रीय इस्‍तेमाल से संदर्भित है । ई-लर्निंग में ई-शब्‍द से अभिप्राय इलेक्‍ट्रानिकी ई-अधिगम शब्‍द है, इसमें सभी शैक्षणिक कार्यकलाप शामिल किये गये हैं जो किसी संबद्ध व्‍यक्‍ति अथवा ऑंन लाइन व आफ लाइन तथा समकालिक अथवा असमकालिक अर्थात- नेटवर्ककृत कंप्‍यूटर पर अकेले कार्य करने वाले ग्रुपों द्वारा कार्यान्‍वित किये जाते हैं तथा यह अन्‍य इलेक्‍ट्रानिक उपकरणों की जानकारी हेतु प्रभावी दूरस्‍थ अधिगम सुविधा है ।

रासूवि केन्‍द्र ने राष्‍ट्रीय ई-शासन रुपरेखा के कार्यान्‍वयन में एक पेचीदा व महत्‍वपूर्ण भूमिका अदा की है । इस रुपरेखा का इस्‍तेमाल करने वाले प्रयोक्‍ता से यह अपेक्षा की जाती है कि वे समय अथवा भौगोलिक अवरोधों पर नियंत्रण रखने हेतु ऐसी प्रौद्योगिकी का फैलाव करें ।

नवीनतम तरीकों की बढ़ती हुई आवश्‍यकता को महसूस करते हुए वांछित प्रचालनात्‍मक दक्षता विश्‍वसनीयता, सुरक्षा व लागत प्रभावशीलता से सम्‍मेलनों, प्रशिक्षणों, तथा कांफ्रेंसों को आयोजित करने हेतु, रासूवि केन्‍द्र ने ई-लर्निंग रुपरेखा-वेब कनेक्‍ट(आई ई एल एस) तैयार की है। वेब कनेक्‍ट सेवायें भारत के मंत्रालयों तथा विभागों के प्रयोक्‍ताओं हेतु अवसंरचना तथा आवश्‍यक ई-लर्निेंग उपस्‍कर, विषय- सामग्री तथा अनुप्रयोगों से संबंधित सहायता प्रदान करती है ।

वेब कनेक्‍ट आई ई एल एस रुपरेखा फ्रेमवर्क सिंगल विंडो इंटरफेस के रुप में प्रशिक्षकों तथा प्रयोक्‍ताओं को दोनों असमकालिक मोड (लर्निेग प्रबंधन प्रणाली) तथा समकालिक मोड (वर्चुअल क्‍लास रुम) कार्यकलापों की सुविधा प्रदान करती है । यह संगठनों को लागत प्रभावी तरीके से तथा मांग पर बैठकें, कांफ्रेंसिंग, प्रशिक्षण तथा सहयोगी विचार-विमर्श आयोजित करने की अनुमति प्रदान करती है ।

वर्चुअल (आभासी) क्लास रुम

आभासी क्लास रुम ई लर्निंग वेब कनेक्‍ट समकालिक मोड का एक लर्निेग वातावरण है जिसमें घटना के सभी पहलुओं को एकल अनुप्रयोग के माध्‍यम से सजीव रुप से निपटाया जाता है । वर्चुअल (आभासी) क्लास रुम एक ऐसा उपस्‍कर है जो किसी भी स्‍थान से प्रतिभागियों तथा विभिन्‍न क्षेत्रों में संस्‍थाओं को प्रोत्‍साहित करने के लिए बैठकें आयोजित करता है । चूंकि यह समाधान इंटरनेट आधारित है जिसका व्‍याख्‍यान किसी भी स्‍थान पर उसके दर्शकों के लिए व्‍याख्‍यान, प्रस्‍तुतीकरण, सेमिनार आदि आयोजित करने में इस्‍तेमाल किया जा सकता है । रासूवि केन्‍द्र का वेब कनेक्‍ट संचार व सहयोग के विभिन्‍न मोडो में ई-लर्निंग की सेवायें प्रदान कर रहा है ।

  • URL

  • Contact Details

    प्रशिक्षण प्रभाग रासूवि केन्‍द्र, सूचना प्रौद्योगिकी विभाग ए-ब्‍लॉक, सी जी ओ कॉम्‍प्‍लेक्‍स, लोदी रोड-110003 (भारत)
    Email:scgupta[at]nic[dot]in
    Phone:91-11-24361607