पुरस्कार

मुखपृष्ठ  »  पुरस्कार

पुरस्कार - 2018

  • महानिदेशक, एनआईसी, डॉ नीता वर्मा ने गुवाहाटी में पूर्वोत्तर प्रौद्योगिकी सभा में भारतीय एक्सप्रेस ‘पूर्वोत्तर में डिजिटल नेता उत्कृष्ट योगदान’ पुरस्कार प्राप्त किया

    award

  • मुख्यमंत्री बिहार, श्री नीतीश कुमार ने वाहन और सारथी -4 के सफल कार्यान्वयन के लिए श्री राजेश कुमार सिंह, राज्य सूचना –विज्ञान अधिकारी , बिहार को सम्मानित किया।

    award

    माननीय मुख्यमंत्री बिहार, श्री नीतीश कुमार ने दिनांक 03/05/2018 को  ज्ञान भवन , पटना में आयोजित एक भव्य समारोह में परिवहन विभाग के वाहन और सारथी -4 केसफल कार्यान्वयन के लिए श्री राजेश कुमार सिंह, राज्य सूचना-विज्ञान अधिकारी  बिहार को  वरिष्ठ राजनीतिक नेताओं और प्रशासनिक अधिकारियों की उपस्थितिमें सम्मानित किया ।

    परियोजना में शामिल टीम के सदस्य थे :

    श्री राजेश कुमार सिंह, राज्य सूचना-विज्ञान अधिकारी
    श्री सोमेश , वरिष्ठ तकनीकी निदेशक
    डॉ कन्हैया पांडे, तकनीकी निदेशक

  • एनआईसी हिमाचल प्रदेश की मिड डे मील ऑटोमैटेड रिपोर्टिंग एंड मैनेजमेंट सिस्टम एंटरप्राइज़ सॉल्यूशन के लिए प्रौद्योगिकी से संबंधित पुरस्कार

    award

    एनआईसी के मिड डे मील ऑटोमेटेड रिपोर्टिंग एंड मैनेजमेंट सिस्टम को 23 फरवरी 2018 को इंदौर में प्रौद्योगिकी सभा पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

    परियोजना में शामिल टीम सदस्य थे :
    श्री अजय सिंह चहल
    श्री ललित कपूर
    श्री संजय कुमार
    श्री संदीप कुमार
    श्री संदीप सूद
    श्री आशीष
    श्री संजय शर्मा
    श्री सर्वजीत कुमार

  • लोक सेवाआयोग के लिए एंटरप्राइज आर्किटेक्चर फ्रेमवर्क के लिए ओपन ग्रुप उत्कृष्टता पुरस्कार

    award

    ओपन ग्रुप विशेषज्ञ पैनल ने लोक सेवा आयोग के आर्किटेक्चर फ्रेमवर्क को डिजाइन करने के लिए एचपी लोक सेवा आयोग और एनआईसी हिमाचल प्रदेश को पुरस्कार प्रदान किया है। पुरस्कार बेंगलुरु में ओपन समूह सम्मेलन में 22 फरवरी 2018 को एनआईसी और हिमाचल प्रदेश पी एस सी टीमों के लिए पेश किया गया। श्री जे सत्यनारायण और श्री जेम्स ने डीसी मिश्रा , डीडीजी, श्री अजय सिंह चहल , एसआईओ एनआईसी हिमाचल प्रदेश और उनकी टीम को पुरस्कार प्रदान किया गया । भारत के विभिन्न राज्यों के अलावा, एशिया, ऑस्ट्रेलिया, अफ्रीका और मध्य पूर्व से बड़ी संख्या में सरकारों, उद्योगों और शिक्षाविदों से नवाचार और उत्कृष्टता के लिए ओपन ग्रुप अवार्ड्स को बड़ी संख्या में नामांकित किया गया।

    परियोजना में शामिल टीम सदस्य थे :
    श्री डीसी मिश्रा , उपमहानिदेशक
    श्री अजय सिंह चहल , राज्य सूचना-विज्ञान अधिकारी एनआईसी हिमाचल प्रदेश
    श्री आईपीएस सेठी , वरिष्ठ तकनीकी निदेशक
    श्री संजय शर्मा, तकनीकी निदेशक
    श्री संजय कुमार, तकनीकी निदेशक
    श्री संदीप कुमार, तकनीकी निदेशक
    श्री मनोज तोमर , अपर सचिव, हिमाचल प्रदेश पीएससी

  • शासन सुधार प्रशासन (डीजीआर), पंजाब में ई-ऑफ़िस कार्यान्वयन के लिए सीएसआई निहिलेंट ई-गवर्नेन्स अवार्ड्स 2017

    award

    प्रशासन सुधार विभाग (डी जी आर ) पंजाब को पंजाब डी जी आर में ही ई-आफि़स के कार्यान्वयन के लिए सीएसआई निहिलेंट ई-गवर्नेंस पुरस्कार 2017 से सम्मानित किया गया । डी जी आर ने डीजीआर के स्वयं के कार्यालय और पंजाब राज्य में 5 प्रभागीय आयुक्तों , सभी 22 डीसी कार्यालयों में राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र द्वारा विकसित, ई-कार्यालय के कार्यान्वयन को अनुमोदित किया ।

    परियोजना में शामिल टीम सदस्य थे :
    डीजीआर पंजाब और एनआईसी पंजाब राज्य ई-ऑफ़िस टीम

  • अभिनव और उत्कृष्टता के लिए ओपन ग्रुप राष्ट्रपति पुरस्कार 2018

    award

    ओपन ग्रुप ने राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) जिला सूचना विज्ञान केन्द्र, अकोला के अंतर्गत 22-24 फ़रवरी 2018 को आयोजित सम्मेलन के दौरान बैंगलोर में “डिजिटल समावेश” श्रेणी परियोजना के लिए “राष्ट्रीय भूमि रिकॉर्ड्स आधुनिकीकरण मिशन मोड परियोजना (एनएलआरएमपी) के तहत ऑनलाइन ई-परिवर्तन” परियोजना हेतु नवाचार और उत्कृष्टता, 2018 के लिए राष्ट्रपति पुरस्कार प्रदान किया ।

    एनआईसी जिला केंद्र ने महाराष्ट्र के राज्य में कार्यान्वित एक सेवा के रूप में पूर्ण आभासी मशीन के साथ सेवाओं की तरह क्लाउड के साथ साझा अलगाव, वर्चुअलाइजेशन, सर्वर समेकन, सॉफ्टवेयर, हार्डवेयर पोर्टेबिलिटी और साझा नेटवर्क का लाभ उठाने जैसे कई नवाचारों का परिचय दिया। परियोजना की उल्लेखनीय उपलब्धियां यह है कि यह सेवा वितरण में सुधार, क्षमता, दक्षता बढ़ाता है और प्रभावी ई-गवर्नेंस के लिए लागत प्रभावी समाधान बनाता है।

    परियोजना में शामिल टीम सदस्य थे :
    श्री मोइज हुसैन हुसैन अली, राज्य सूचना-विज्ञान अधिकारी और उपमहानिदेशक , एनआईसी महाराष्ट्र
    श्री नितिन वी चौधरी , जिला सूचना-विज्ञान अधिकारी और वैज्ञानिक डी, एनआईसी अकोला
    अनिल एस चिंचोले , अपर जिला सूचना-विज्ञान अधिकारी और वैज्ञानिक सी, एनआईसी अकोला

  • एनआईसी पंजाब द्वारा पंजाब लोक सेवा आयोग पोर्टल के लिए सर्वश्रेष्ठ ई-गवर्नेंस परियोजना के लिए मान्यता का सीएसआई पुरस्कार

    award

    20 जनवरी 2018 को कोलकाता में आयोजित सीएसआई सम्मेलन 2017 में एनआईसी पंजाब द्वारा विकसित और कार्यान्वित किये गये पीपीएससीआईएसआर को “सर्वश्रेष्ठ ई-गवर्नेंस परियोजना के लिए मान्यता का पुरस्कार” प्रदान किया गया है। पीपीएससीआईएसआर पोर्टल ने पीपीएससी के  भर्ती कार्यप्रवाह से संबंधित प्रक्रियाओं के साथ-साथ ई-सेवा के साथ आवेदकों को सुविधा प्रदान करने जिसमें ऑनलाइन आवेदन, भुगतान, स्थिति, प्रवेश पत्र, आपत्ति आदि शामिल हैं को स्वचालित बनाने के लिए प्रभावी तरीके से आईसीटी का उपयोग करने में सक्षम बनाया है।

    परियोजना में शामिल टीम के सदस्य थे:-

    श्री विक्रमजीत ग्रोवर, वरिष्ठ तकनीकी निदेशक और अपर राज्य सूचना-विज्ञान अधिकारी
    श्री अनूप कुमार जलाली, तकनीकी निदेशक
    श्री टी एस रमेश, प्रणाली विश्लेषक

  • एमडीएम-एआरएमएस (मिड डे मील स्वचालित रिपोर्टिंग एंड मैनेजमेंट सिस्टम) के लिए 2017 का मान्यता प्राप्त सीएसआई-निहिलेंट अवॉर्ड

    award

    एमडीएम – एआरएमएस (मिड डे मील स्वचालित रिपोर्टिंग एंड मैनेजमेंट सिस्टम) को 2017 के मान्यता प्राप्त सीएसआई-निहिलेंट पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। परियोजनाएं एनआईसी हिमाचल प्रदेश द्वारा विकसित की गई हैं।

    परियोजना में शामिल टीम के सदस्य थे:

    श्री अजय सिंह चहल, राज्य सूचना-विज्ञान अधिकारी
    श्री संजय कुमार, तकनीकी निदेशक और प्रोजेक्ट हेड
    श्री संदीप कुमार, तकनीकी निदेशक
    श्री ललित कपूर, अपर राज्य सूचना-विज्ञान अधिकारी
    श्री संदीप सूद, तकनीकी निदेशक
    श्री सी.एल. कश्यप, वैज्ञानिक-बी
    श्री आशीष शर्मा, वैज्ञानिक-बी
    श्री सर्वजीत कुमार, वैज्ञानिक-बी
    श्री अमित कानौजिया, वैज्ञानिक अधिकारी एसबी

  • मानव संपदा के संरक्षण के लिए सीएसआई-निहिलेंट पुरस्कार

    award

    ई-गवर्नेंस श्रेणी के तहत मानव संपदा को सीएसआई-निहिलेंट पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। कोलकाता में 19 से 21 जनवरी 2018 तक आयोजित कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया के 52वें वार्षिक सम्मेलन 2017 के दौरान परियोजनाओं को पुरस्कार प्राप्त हुए। परियोजनाएं एनआईसी हिमाचल प्रदेश द्वारा विकसित की गई हैं।

    परियोजना में शामिल टीम के सदस्य थे:-

    श्री अजय सिंह चहल, राज्य सूचना-विज्ञान अधिकारी
    श्री संजय कुमार, तकनीकी निदेशक और प्रोजेक्ट हेड
    श्री संदीप सूद, तकनीकी निदेशक
    श्री संदीप कुमार, तकनीकी निदेशक
    श्री संजय ठाकुर, वैज्ञानिक-डी
    श्री आशीष शर्मा, वैज्ञानिक-बी
    श्री सर्वजीत कुमार, वैज्ञानिक-बी
    राहुल
    नवीन

  • जिला कुल्लू, हिमाचल प्रदेश के ऑनलाइन रोहतांग पास परमिट जारी करने की प्रणाली के लिए राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस स्वर्ण पुरस्कार

    award

    27 फरवरी, 2018 को हैदराबाद में 21 वीं राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस सम्मेलन में ऑनलाइन रोहतांग पास परमिट जारी करने की प्रणाली ने जिला पहल श्रेणी के तहत राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस 2018 स्वर्ण पुरस्कार जीता है। यह पुरस्कार डॉ. जितेंद्र सिंह, माननीय केन्द्रीय राज्य मंत्री, कार्मिक प्रशासनिक सुधार और पेंशन द्वारा प्रदान किया गया था। हिमाचल प्रदेश सरकार और एनआईसी हिमाचल प्रदेश के अधिकारियों ने यह पुरस्कार प्राप्त किया।

     

    परियोजना में शामिल टीम के सदस्य थे:

    श्री यूनुस, आईएएस, उपायुक्त कुल्लू
    श्री राकेश कंवर, आईएएस, विशेष सचिव ग्रामीण विकास और पंचायती राज
    श्री अजय सिंह चहल, राज्य सूचना-विज्ञान अधिकारी, एनआईसी हिमाचल प्रदेश
    श्री ललित कपूर, अपर राज्य सूचना-विज्ञान अधिकारी
    श्री आशीष शर्मा, वैज्ञानिक-बी
    श्री बृजेंद्र डोगरा, जिला सूचना-विज्ञान अधिकारी, कुल्लू
    श्री राजीव कुमार, अपर जिला सूचना-विज्ञान अधिकारी, कुल्लू

  • एनआईसी के मानव संपदा सॉफ्टवेयर की तीव्र पुनरावृत्ति हेतु राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस स्वर्ण पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

    award

    27 फरवरी 2018 को हैदराबाद में 21वें राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस सम्मेलन में http://ehrms.nic.in पर मानव संपदा सॉफ्टवेयर (ईएचआरएमएस) को तीव्र पुनरावृत्ति के लिए राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस गोल्ड अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। मानव संपदा सॉफ्टवेयर समाधान एनआईसी हिमाचल प्रदेश द्वारा एक उत्पाद के रूप में विकसित किया गया है और इसे कई राज्यों में दोहराया गया है जिसमें 14 राज्यों/संगठनों में 15 लाख से अधिक ईसेवा पुस्तकें शामिल हैं। यह पुरस्कार डॉ. जितेंद्र सिंह, माननीय केंद्रीय राज्य मंत्री, कार्मिक प्रशासनिक सुधार एवं पेंशन द्वारा प्रस्तुत किया गया था। यह पुरस्कार हिमाचल प्रदेश सरकार और एनआईसी हिमाचल प्रदेश के अधिकारियों नें प्राप्त किया।

    परियोजना में शामिल टीम के सदस्य थेः-

    श्री अमरजीत सिंह, आईएएस, विशेष सचिव कार्मिक
    श्री अजय सिंह चहल, एनआईसी हिमाचल प्रदेश, राज्य सूचना-विज्ञान अधिकारी
    श्री आईपीएस सेठी, राज्य समन्वयक
    श्री संजय कुमार, तकनीकी निदेशक और प्रोजेक्ट हेड
    श्री संदीप सूद, तकनीकी निदेशक
    श्री संजय शर्मा, तकनीकी निदेशक
    श्री अमित कानौजिया, वैज्ञानिक अधिकारी एसबी

  • एनआईसी महाराष्ट्र ने ई-प्रापण सॉफ्टवेयर के कार्यान्वयन के लिए सर्वश्रेष्ठ कार्य-निष्पादन पुरस्कार प्राप्त किया

    award

    एनआईसी महाराष्ट्र को वर्ष 2018 के लिए वित्त मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा ईप्रापण सॉफ्टवेयर के कार्यान्वयन हेतु महाराष्ट्र को श्रेष्ठ कार्य-निष्पादन पुरस्कार से सम्मानित किया गया है । एनआईसी महाराष्ट्र द्वारा विकसित महाराष्ट्र राज्य में परियोजना ईप्रापण सॉफ्टवेयर के कार्यान्वयन के लिए राष्ट्रीय- श्रेणी के अंतर्गत यह पुरस्कार दिया गया ।
    परियोजनाओं में शामिल टीम सदस्य थे :
    मोइज हुसैन अली राज्य सूचना-विज्ञान अधिकारी महाराष्ट्र
    श्री गोंडाणे बीडी प्रधान प्रणाली विश्लेषक
    श्रीमती इरेनी ए तकनीकी निदेशक
    श्री वेदुला श्रीनिवास प्रधान प्रणाली विश्लेषक